About Me

header ads

भाजपा और तृणमूल मतदाताओं के लिए जहर की तरह : वृंदा


माकपा पोलित ब्यूरो की सदस्य वृंदा करात ने पश्चिम बंगाल के लोगों को भाजपा या राज्य की सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस को वोट देने के खिलाफ लोगों को आगाह करते हुए कहा कि ‘जहर कोई भी हो, जानलेवा होता है.' भगवा पार्टी के राज्य में पैठ बनाने और वाम वोट के बड़े स्तर पर खिसकने की आशंका के बीच करात ने राज्य में वाम दलों की स्थिति स्पष्ट करने की कोशिश की, जहां उसने 34 साल तक शासन किया.

करात ने हाल में दिये साक्षात्कार में कहा : आप यह नहीं सोच सकते कि आप यह या वह जहर चख सकते हैं. तृणमूल की नीतियों से बंगाल के लोगों में पार्टी के खिलाफ गहरा असंतोष है. भाजपा अपनी केंद्रीय-राज्य ताकतों तथा धन बल का इस्तेमाल कर यह जताने की कोशिश कर रही है कि यहां पर वही एक विकल्प है.

यह लोगों के लिए जहर के दो विकल्प की तरह है : भाजपा और तृणमूल कांग्रेस. कोलकाता से करीब 200 किलोमीटर दूर, एक समय माओवादियों के गढ़ रहे बेलपहाड़ी में माकपा कार्यालय में उन्होंने मतदाताओं को तृणमूल कांग्रेस या भाजपा को वोट डालने के खिलाफ आगाह करते हुए कहा कि ‘जहर कोई भी हो जानलेवा होता है.' कोलकाता में हालिया झड़पों के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि यह शर्मनाक है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व वाले काफिले के लोगों ने तोड़फोड़ की और ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ा गया.

करात के मुताबिक तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी और भाजपा, पश्चिम बंगाल में वाम को मुख्य विपक्ष मान रहे हैं और उसके समर्थकों को निशाना बनाने का प्रयास चल रहा है.  उन्होंने आरोप लगाया : यह जिला, जहां अभी हम हैं, यह आदिवासी जिला है. पिछले दशक में माओवादी या माओवादी-तृणमूल कांग्रेस-भाजपा भिड़ंत के नाम पर हम अपने 468 कार्यकर्ताओं को खो चुके हैं.