समुद्री सुरक्षा मजबूत करने के लिए एचओएसटीएसी लागू करेंगे भारत, अमेरिका

वॉशिंगटन : भारत और अमेरिका समुद्री सुरक्षा को मजबूत करने के लिए 'हेलिकॉप्टर ऑपरेशंस फ्रॉम शिप्स अदर दैन एयरक्राफ्ट कैरियर्स' (एचओएसटीएसी) के लिए कार्यक्रम लागू करने पर सहमत हो गए। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और उनके अमेरिकी समकक्ष जिम मैटिस ने आसियान के रक्षा मंत्रियों की बैठक से इतर बुधवार को फिलीपीन में मुलाकात के दौरान इस संबंध में फैसला लिया। 



पेंटागन की प्रवक्ता डाना डब्ल्यू वाइट ने कहा, दोनों ने समुद्री सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने की महत्ता पर जोर दिया और इस उद्देश्य के लिए एचओएसटीएसी के लिए कार्यक्रम लागू करने का फैसला लिया। वाइट ने बताया कि सीतारमण और मैटिस नियमों पर आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था की महत्ता पर सहमत हुए जिसमें सभी राष्ट्र समृद्ध बनने के लिए सक्षम हों और उन्होंने आतंकवाद के साझा खतरों के खिलाफ एक साथ मिलकर काम करने की जररत पर भी सहमति जताई।

उन्होंने बताया कि दोनों नेताओं ने अमेरिका-भारत रक्षा सहयोग मजबूत करने और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत के नेतृत्व की भूमिका को बढ़ाने के कई कदमों पर चर्चा की। एक माह से भी कम समय में यह उनकी दूसरी मुलाकात है। मैटिस पिछले महीने भारत गए थे।