Sunday, June 19, 2016

प. बंगाल को कट्टरपंथियों के लिए पनाहगाह नहीं बनने दिया जाए: भाजपा


सिलीगुड़ी (प.बंगाल): भाजपा ने आरोप लगाया कि बांग्लादेश से निकाले गए जमात जैसे कट्टरपंथी संगठनों के कार्यकर्ताओं को पश्चिम बंगाल में शरण मिल रही है और तृणमूल कांग्रेस सरकार को देखना चाहिए कि राज्य इन तत्वों के लिए सुरक्षित पनाहगाह नहीं बन जाए। पार्टी की दो दिवसीय प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में पारित विशेष प्रस्ताव में कहा गया है, ‘‘यह अधिवेशन मांग करता है कि पश्चिम बंगाल को आतंकवादी और कट्टरपंथी संगठनों के लिए पनाहगाह नहीं बनने देना चाहिए। धर्म के आधार पर तुष्टीकरण की राजनीति रकनी चाहिए।’’

पार्टी ने आरोप लगाया कि बांग्लादेश से निकले कट्टरपंथी जमात कार्यकर्ताओं को कुछ राजनीतिक दलों की वोट बैंक की राजनीति के लिए पश्चिम बंगाल में शरण मिल रही है। इसमें कहा गया, ‘‘खगरागढ़ और कालियाचक की घटनाएं उदाहरण हैं। हम इस धर्म आधारित अलगाववादी और हिंदू विरोधी राजनीति की निंदा करते हैं।’’ पार्टी ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों के खिलाफ चरमपंथी ताकतों द्वारा फैलाये जा रहे आतंकवाद को लेकर वहां की सरकार द्वारा उठाये कुछ सकारात्मक कदमों को समर्थन जताया। पार्टी ने कहा, ‘‘कट्टरपंथी संगठन जमात और उसका समर्थन करने वाले दलों ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों के खिलाफ आतंक फैला रखा है। यह बैठक इसकी कड़ी निंदा करती है।’’ प्रस्ताव में कहा गया कि जमात जैसे संगठनों को पूरी तरह समाप्त करना होगा और केवल दोषियों को दंडित करने से शांति नहीं लौटेगी। इसमें कहा गया, ‘‘बांग्लादेश में विश्वास और सुरक्षा का माहौल बनाना होगा।’’