Wednesday, January 20, 2016

पीएम मोदी बोले, राज्यों को केंद्र के हर पैसे का हिसाब देना होगा


कोकराझार : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकारों को केंद्र की तरफ से मिलने वाले एक-एक पैसे का हिसाब देना होगा। दिल्ली अब राज्य सरकारों से हिसाब मांगती है। उन्हें खर्च किए गए प्रत्येक  रुपये का हिसाब रखना होगा। लोगों के धन की लूट को रोकना होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब उन्होंने विकास कोष को लेकर जवाबदेही मांगी तो असम सरकार और पूर्वोत्तर में कई अन्य राज्य सरकारें परेशान हो गईं। उन्होंने कहा, असम सरकार को हमें ब्योरा देना होगा कि विकास का धन कहां चला गया। पूर्वोत्तर में सभी सरकारों को पूरा हिसाब किताब देना होगा। इसी वजह से, ये लोग मुझे पसंद नहीं करते। लेकिन मुझे इसकी चिंता नहीं है। वे मुझे पसंद करें या नहीं करें। मैं देश के लिए काम करता हूं। मैं विकास के लिए काम करता हूं।

केंद्र सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का हवाला देते हुए मोदी ने कहा कि जब से एनडीए सत्ता में आई है, पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय ने कई पहल की है। अब केंद्र सरकार का कम से कम एक मंत्री हर महीने पूर्वोत्तर का दौरा करता है। उन्होंने कहा, हमारे पास तीन सूत्री कार्यक्रम है...विकास, विकास और विकास। सभी समस्याओं का समाधान केवल विकास के जरिए ही किया जा सकता है।

मोदी ने कहा कि दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था कि केंद्र सरकार से भेजे जाने वाले प्रत्येक एक रुपये में से केवल 15 पैसे ही सही जगह पहुंच पाते हैं, उन्होंने सही कहा था। लेकिन अब हम इसकी इजाजत नहीं दे सकते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को असम में विधानसभा चुनावा का बिगुल फूंकते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने विकास की कमी पर राज्य में 15 साल के कांग्रेस शासन और राज्यसभा में राज्य का प्रतिनिधित्व करने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को भी घेरा। मोदी ने कोकराझार में दो समुदायों को जनजातीय का दर्जा देने सहित कई पहलों की घोषणा करते हुए भाजपा के चुनाव प्रचार की शुरुआत कर दी। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा और इसके नए सहयोगी बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीवीएफ)ने संयुक्त रूप से यह रैली आयोजित की थी।

रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, मनमोहन सिंह मेरी सरकार से सवाल पूछ रहे हैं। लेकिन आपने असम में पिछले 15 साल और केंद्र में 10 साल में क्या किया, वह भी तब जब असम का प्रतिनिधित्व कर रहा कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री था। अब वे मुझसे चाहते हैं कि मैं 15 महीनों में उनकी सभी समस्याओं को सुलझा दूं। क्या आपको नहीं लगता कि यह मेरे प्रति अनुचित है।

प्रधानमंत्री मोदी ने असम में चुनावों के मद्देनजर कई घोषणाएं की। उन्होंने कहा, कर्बी समुदाय और पर्वतीय क्षेत्रों में रह रहे बोडो लोगों को जनजातीय दर्जा दिया जाएगा। प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है। मोदी ने कहा, उन्होंने निर्देश दिया है कि पूर्वोत्तर से युवाओं को दिल्ली पुलिस में भर्ती किया जाना चाहिए और प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है। कोकराझार में एक केंद्रीय तकनीकी संस्थान को डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया जाएगा। सियालदह-गुवाहाटी कंचनजंगा एक्सप्रेस को बराक घाटी तक विस्तारित किया जाएगा, जबकि धुबुरी स्थित रूपसी हवाईअड्डे को भारतीय वायुसेना अपने नियंत्रण में लेगी।