Friday, May 15, 2015

मोदी का बच्चों ने किया गर्मजोशी से स्वागत


बीजिंग:  चीन यात्रा के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी पीएम ली केकियांग के बीच हुई बातचीत के दौरान करीब 24 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं। पेइचिंग में दोनों नेताओं के बीच हुई चर्चा में सीमा संबंधी मसलों, निवेश और विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के ऊपर चर्चा हुई। पीएम मोदी का आज बीजिंग में व्यस्त कार्यक्रम था। पीएम आज शाम को शंघाई के लिए रवाना हुए। कल उनका शंघाई में उद्योगपतियों के साथ बैठक होगी।

भारत और चीन ने अंतरिक्ष, विज्ञान, दक्षता विकास, रेल, स्मार्ट सिटी, पर्यटन और शिक्षा सहित कई क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए आज करीब दस अरब डॉलर के 24 समझौतों पर हस्ताक्षर किए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग के बीच हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत के बाद इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।

मोदी की चीन यात्रा के दूसरे दिन आज उन्होने पहले केकियांग के साथ अकेले में बैठक की, जो करीब 50 मिनट चली। उसके बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की पिछले साल हुई भारत यात्रा के दौरान 16 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए थे। दोनों देशों के बीच आज हुए समझौतों के मुताबिक चेन्नई और चेंगदू में महावाणिज्य दूतावास खोले जाएंगे।

रेलवे के विकास के लिए दोनों देशों के बीच एक समझौता हुआ है। शंघाई में गांधीवादी और भारतीय केंद्र और कुनिमग में योग संस्थान की स्थापना की जाएगी। भारत और चीन ने साथ ही चेन्नई और चोंगकिंग तथा हैदराबाद और किंगदाओ को सिस्टर सिटी और कर्नाटक तथा सिचुआन को सिस्टर स्टेट बनाने पर भी सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए।

व्यावसायिक शिक्षा और कौशल विकास में सहयोग के लिए भी एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। चीन के सहयोग से अहमदाबाद में महात्मा गांधी कौशल विकास एवं उद्यमिता संस्थान की स्थापना की जाएगी। साथ ही दोनों देशों से खनन, अंतरिक्ष, मीडिया, भूकंप विज्ञान और भूकंप अभियांत्रिकी, समुद्री विज्ञान और जलवायु परिवर्तन के क्षेत्रों में भी सहयोग पर सहमति जताई। दोनों देशों के बीच भारत-चीन थिंक टैंक फोरम की स्थापना करने के लिए भी एक समझौते पर हस्ताक्षर हुए।

शियान और बीजिंग के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी तीन दिन की चीन यात्रा के तीसरे चरण में शुक्रवार को शंघाई पहुंच गए। मोदी गुरुवार को शियान पहुंचे थे, जहां उन्होंने राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ शिखर स्तर की बातचीत की।