Friday, May 8, 2015

मोदी की यात्रा संबंधों को मजबूती प्रदान करने का एक अच्छा मौका: चीन

बीजिंग : चीन-भारत संबंधों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सकारात्मक टिप्पणी का स्वागत करते हुए चीन ने शुक्रवार को कहा कि अगले सप्ताह होने वाली उनकी यात्रा द्विपक्षीय संबंधों को मजबूती प्रदान करने और उसे एक नई ऊंचाई पर ले जाने का ‘बहुत अच्छा मौका’ मुहैया कराएगी।
चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हमने वह खबर देखी है। हम प्रधानमंत्री मोदी की चीन-भारत संबंधों पर टिप्पणी की प्रशंसा करते हैं जो दोनों देशों के नेताओं द्वारा द्विपक्षीय संबंधों पर बनी व्यापक आम सहमति को भी प्रदर्शित करती है।’
उन्होंने यह बात मोदी की यात्रा से पहले ‘टाइम’ पत्रिका के साथ उनके साक्षात्कार पर चीन की प्रतिक्रया के बारे में पूछे गये एक सवाल का उत्तर देते हुए क
ही। मोदी ने उस साक्षात्कार में कहा है कि भारत और चीन ने सीमा विवाद से निपटने में ‘इतिहास से सीखा’ है और यह कि द्विपक्षीय संबंध ऐेसे चरण में पहुंच गए हैं जहां वे वाणिज्य एवं व्यापार में प्रतिस्पर्धा करते हुए वैश्विक स्तर पर सहयोग कर सकते हैं।
हुआ ने कहा, ‘हम इस यात्रा का इस्तेमाल पहले से मजबूत संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने और संबंधों को एक नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए करना चाहेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘जैसा कि हम देख सकते हैं दोनों पक्षों ने सीमा वार्ता में सकारात्मक गति को बरकरार रखा है। विवादों का प्रबंधन किया गया है और सीमा पर शांति बरकरार रखी गई है।’
उन्होंने कहा कि हाल के वषरें में चीन और भारत के बीच अक्सर उच्च स्तर की बातचीत होने के साथ ही परस्पर राजनीतिक विश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा, ‘विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग भी बढ़ा है।’ उन्होंने कहा, ‘पिछले वर्ष चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की सफल भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच शांति और समृद्धि के लिए रणनीतिक सहयोग साझेधारी बढ़ाने पर एक महत्वपूर्ण आम सहमति बनी थी। यात्रा के दौरान दोनों नेताओं ने अगले पांच से 10 वर्ष के भविष्य की रणनीति तय की।’ मोदी 14 मई को चीन की तीन दिवसीय यात्रा पर जा रहे हैं। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग उनकी चीन के प्राचीन शहर जियान में मेजबानी करेंगे जो कि चीनी नेता के गृह प्रांत की राजधानी भी है।
दोनों नेताओं के बीच विभिन्न मुद्दों पर एक औपचारिक वार्ता होगी। इसके बाद दोनों के बीच 15 मई को बीजिंग में औपचारिक वार्ता होगी। शी के अलावा मोदी प्रधानमंत्री ली क्विंग और चीन की संसद ‘नेशनल पीपुल्स कांग्रेस’ के अध्यक्ष के साथ भी बातचीत करेंगे।
हुआ ने कहा कि मोदी एक प्रधानमंत्री के रूप में चीन की यात्रा करने वाले हैं, दोनों देशों के पास संबंधों को मजबूती प्रदान करने का यह ‘बहुत अच्छा मौका’ है।